Kerala

केरल बाढ़ पीड़ितों की मद्द के लिए आगे आए नर्स लिनि के पति, अपनी सैलरी की दान

केरल में  बाढ़ से हालत बेकाबू होते जा रही हैं जिससे कई लोगों के आशियााने उजड़ गए हैं तो कई बेघर हो गए हैं और तो और कई लोगों ने  इस आपदा में अपनों को गंवा दिया है। वहीं ऐसे लोगों की मद्द के लिए सरकार,  समाजसेवी समेत कई आगे आ रहे हैं वहीं इनमें से नर्स लिनि पुथुसेरी के पति ने भी बाढ़ पीड़ितों की मदद कर दुनिया के लिए एक मिसाल कायम की है । उन्होनें बाढ़ पीढ़ितों के लिए अपनी पहली सैलरी केरल फ्लड रिलीफ फंड में दान की है । आपको  बता दें कि नर्स लिनि पुथुसेरी केरल के निपाह पीड़तों का इलाज करते वक्त अपनी जान से हाथ धो बैठी थी जिसके बाद केरल सरकार ने उनके पति सजीश को स्वास्थ्य विभाग में एक क्लर्क की नौकरी दी थी ।

केरल बाढ़ पीड़ितों के आगे आए नर्स लिनि के पति

पेरम्बरा थालुक अस्पताल में नर्स के तौर पर कार्यरत नर्स लिनि अपनी जान की परवाह किए बिना निपाह पीड़ितों की मद्द के लिए आगे आईं थी इस दौरान उन्हें निपाह इंफेक्शन हो गया था और उनकी मौत हो गई थी। अब  उनके पति सजीश ने केरल के बाढ़ पीढ़ितों की मद्द कर एक मिसाल कायम की है । आपको बता दें कि केरल के कोझीकोड़ में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जहां सजीश नेकेरल के श्रम एवं एक्साइज मंत्री टीएर रामाकृष्णन को केरल बाढ़ पीड़ितों की मद्द के लिए रुपए दान किए हैं । इस दौरान सजीश ने कहा कि उनके मुश्किल वक्त में केरल उनके साथ खड़ा था, अब उनकी बारी है ।

सोशल मीडिया में वायरल हुआ था नर्स लिनि  का भावकु खत 

इंसानियत के लिए खूबसूरत मिसाल बनने वाली नर्स लिनि पुथुसेरी ने अपनी मौत से पहले एक भावुक पत्र लिखा था जो कि सोशल मीडिया में काफी वायरल हुआ था । उन्होंने लिखा था:

“मैं लगभग अपनी राह पर हूं। मुझे नहीं लगता कि मैं आप सबको देख पाउंगी। सॉरी, हमारे बच्चों की ठीक से देखभाल करना। उन्हें अपने साथ गल्फ (खाड़ी देश) ले जाना और उन्हें हमारे पिता की तरह बिल्कुल अकेले मत छोड़ना। ढेर सारा प्यार…”

निपाह वायरस की जकड़ में केरल के 17 लोग आ गए थे जिससे उनकी मौत हो गई थी ।

 

आपको ये भी बता दें कि केरल में बाढ़ से हालत बेकाबू होते जा रहे हैं वहीं सूत्रों की माने तो 8 अगस्त से लेकर अब तक केरल राज्य में 72 लोगों की मौत हो चुकी है । वहीं  मुख्यमंत्री पी विजयन ने बताया कि बाढ़ की वजह से केरल में 8000 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है ।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close Bitnami banner
Bitnami