News

सावधान! OLX पर चल रहा है बहुत बड़ा Fraud, हो रहा है सेना के जवान के नाम का दुरुपयोग, जानें कैसे बचें इस फ्रॉड से

ओएलएक्स (OLX) के बारे में तो आपने सुना ही होगा। ओएलएक्स के माध्यम से हम पुराने एवं उपयोग किए हुए सामानों की खरीद बिक्री कर सकते हैं। पुराने सामानों के खरीद बिक्री के लिए अधिकतर लोग ओएलएक्स का उपयोग करते हैं। ओएलएक्स पर कोई भी व्यक्ति अपना सामान सीधे ग्राहक को बेच सकता है लेकिन आज कल कुछ लोग इस सुविधा का दुरुपयोग करने लगे हैं। ओएलएक्स फ्रॉड OLX Fraud से जुड़े कई मामले सामने आ चुके है। ज़्यादातर फ्रॉड पुराने मोबाइल की खरीद बिक्री में हुई है और कुछ ठग तो फ्रॉड के लिए इंडियन आर्मी के नाम का दुरुपयोग कर रहे है। आप सोच रहे होंगे कि सीधी खरीद बिक्री में कैसे फ्रॉड हो सकता है और आर्मी के जवान का नाम का इस्तेमाल कैसे हो रहा है, तो चलिए हम आपको OLX Scam के बारे में विस्तार से बताते है और हम ये भी बताएंगे कि कैसे आप ओएलएक्स स्कैम से बच सकते हैं।

OLX Fraud

क्या है OLX Scam ? कैसे ओएलएक्स का उपयोग ठगी के लिए किया जा रहा है ?

यदि आप OLX (ओएलएक्स) पर किसी सामान का विज्ञापन देखते है और आप उस सामान को खरीदना चाहते है तो आप विज्ञापन में दिए गए नंबर पर विक्रेता से संपर्क कर के उस सामान को खरीदने की इच्छा व्यक्त करते हैं। विक्रेता आप को किसी खास स्थान पर बुला कर आपको सामान देता है और आप उसे पैसे दे देते है। इस सौदे में फ्रॉड की कोई गुंजाइश नहीं है। Fraud तब होता है जब विक्रेता आपके शहर से नहीं हो। ये ठग किसी महंगे फोन या दूसरे महंगे सामान का विज्ञापन डालता है और इसकी क़ीमत बहुत ही कम रखता है, इतना कम कि यकीन करना मुश्किल हो।
उदाहरण के तौर पर कोई ठग I Phone X का विज्ञापन डालता है और इसकी कीमत 15 हजार रुपए रखता है। जब इतना सस्ता I Phone X मिल रहा है तो कोई भी व्यक्ति इसे खरीदना चाहेगा। इच्छुक व्यक्ति विज्ञापन में दिए गए नंबर पर संपर्क करता है और ठगी का खेल यहीं से शुरू होता है। ठग कॉल करने वाले से उसके शहर के बारे में पूछता है और जब आप अपना शहर बताते हैं तो ठग अपना पता ऐसे शहर का बताता है जहां से आप विक्रेता यानी कि ठग से मिल नहीं सकते, लेकिन भाई आपको तो 15 हजार में I Phone X चाहिए, तो बात कुरियर पर पहुंचती है। ठग आपसे कहेगा कि आपको कुरियर के माध्यम से मोबाइल भेज देगा। वो आपसे कुरियर करने से पहले पैसा मांगेगा पर ज़ाहिर सी बात है कि आप इनकार ही करेंगे। जब आप सामान मिलने से पहले कोई भी पैसे देने से इंकार करते है फिर वो इस बात पर राज़ी हो जाएगा कि सामान मिलने के बाद ही आप पैसे दें। डील पूरी होने के बाद वो आपसे अनुरोध करेगा कि कुरियर शुल्क का भुगतान आप कर दें जो कि 500 से 1000 रुपए तक हो सकता है। जहां 15 हजार के सामान की बात है तो आप 500 या 1000 रुपए का भुगतान आसानी से कर देंगे। जैसे ही आप कुरियर शुल्क का भुगतान करेंगे वो विक्रेता आपको ब्लॉक कर देगा। यही है OLX Scam (ओएलएक्स स्कैम)। विक्रेता आपको फेक कुरियर श्लीप और ट्रैकिंग नंबर भी देगा। आप विक्रेता से उसके पहचान के बारे में पूछेंगे तो वो अपनी पहचान इंडियन Army के जवान के रूप में बता सकता है एवं आधार कार्ड, पहचान पत्र इत्यादि डॉक्युमेंट्स भी आपको सेंड कर सकता है ताकि आप उस पर विश्वास कर सके। यदि आप उससे सामान के कम कीमत की वजह पूछेंगे तो वो आपको कई बहाने बताएगा जिनमें सबसे प्रमुख ये कि उसकी तैनाती बॉर्डर पर है और उसे या उसके परिवार को पैसे की सख़्त ज़रूरत है।

कैसे बचें ओएलएक्स स्कैम से ? कैसे पहचानें OLX THUG को ?

OLX Fraud

आपको OLX ओएलएक्स से कुछ खरीदना हो तो अपने शहर या उसके आस पास के विज्ञापनदाता से ही संपर्क करें। सामान डाक या कुरियर के माध्यम से लेने के लिए कभी भी तैयार ना हो। यदि कोई सामान बाज़ार मूल्य से अत्यधिक कम कीमत पर मिल रहा हो तो उसकी अच्छे से छानबीन करें। कुछ ऐसे भी मामले सामने आए हैं जिसमें मुफ्त में पालतू कुत्ते या बिल्ली देने का विज्ञापन डाला जाता है और जब कोई विज्ञापदाता से संपर्क करता है तो वो कुत्ते बिल्ली को आप तक पहुंचाने में आने वाले खर्च को मांगता है और जैसे ही आप उसे खर्च देते है वो आपको ब्लॉक कर देगा।
इन सारी बातों के अलावा OLX Fraud (ओएलएक्स फ्रॉड) से बचना हो तो कोई भी सामान खरीदना से पहले विज्ञापन देने वाले व्यक्ति से पूरी छानबीन कर लें। सामान लेने किसी बाहरी या सुनसान इलाक़े में ना जाएं बल्कि किसी भीड़भाड़ वाली जगह ही जाएं और अगर संभव हो तो अपने साथ किसी दोस्त को भी ले जाएं।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close