National

राहुल गाँधी का बयान: PM मोदी समेत अन्य मेंबर्स को नहीं पसंद आई मेरी झप्पी

राहुल गाँधी आए दिन अपने बयानों और हरकतों को लेकर सुर्ख़ियों में बने रहते हैं. अभी कुछ दिन पहले ही सोशल मीडिया पर राहुल गाँधी का एक विडियो जमकर शेयर किया जा रहा था. इस विडियो में राहुल गांधी बीच संसद में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को गले लगाते हुए नजर आए थे. वहीँ हाल ही में हुई एक प्रेस कांफ्रेस के दौरान राहुल ने कहा कि पार्लियामेंट के अविश्वास विवाद के दौरान कुछ “घृणास्पद टिप्पणीयों” ने उन्हें मोदी जी के गले लगने को मजबूर कर दिया. राहुल के अनुसार उनका मोदी जी को गले लगाना मोदी जी और कुछ अन्य पार्टी सदस्यों को पसंद नहीं आया.

राहुल गांधी ने इस प्रेस कांफ्रेस के दौरान बताया कि: “अहिंसा राष्ट्रवाद और पूरे इतिहास का एक आधारभूत दर्शन है. ऐसे में घृणा को घृणा से हराया नही जा सकता.” राहुल के अनुसार यदि आप हिंसा को मात देना चाहते हो तो उसके लिए अहिंसा का मार्ग ही सबसे उत्तम हो सकता है. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि राहुल ने हैम्बर्ग के बुसेरिय्स समर स्कूल में एक सभा के दौरान बताया कि भारतीय होने का मूल सार यही है कि घृणा और नफ़रत को प्यार एवं अहिंसा से हराया जाए. उन्होंने कहा कि अगर कोई एक व्यक्ति आपसे नफरत या घृणा भरा व्यवहार करता है तो यह उसकी आन्तरिक भावना है. ऐसे में उस व्यक्ति का जवाब उसी की भाषा में देना मुर्खता कहलाता है.

राहुल गाँधी ने बताया कि, “किसी भी चीज का कैसे जवाब देना है, यह आपके अपने नियंत्रण में होता है. इसलिए जब प्रधानमंत्री घृणास्पद टिप्पणी कर रहे थे तो मैंने उनकी घृणा का जवाब उन्हें गले लगा कर देना ही ठीक समझा.” आपको बता दें कि इससे पहले भी राहुल गाँधी मोदी सरकार के खिलाफ राफेल डील और कईं अन्य मामलों पर निशाना साध चुके हैं. ऐसे में उनका प्रधानमंत्री को गले से लगाना सबके लिए आश्चर्यजनक था|

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close