National

बिरसा मुंडा जयंती 2018: भारत में आज मनाया जाएगा स्वाभिमान दिवस

बिरसा मुंडा जयंती 2018बिरसा मुंडा जयंती 2018: आज से ठीक 18 वर्ष पहले भारत पर एक नए राज्य का निर्माण किया गया था. इस राज्य को आज हम सभी झारखंड के नाम से जानते हैं. बता दें कि झारखंड राज्य का गठन 18 साल पहले भगवान बिरसा मुंडा (Birsa Munda) की जयंती पर 15 नवंबर को किया गया था. आदिवासियों के नाम पर बने इस राज्य में हमेशा से राजनितिक हलचल चर्चा में बनी रही है. बता दें कि आज Birsa Munda की 143वीं जयंती है जिसको देश भर में धूम धाम से मनाया जा रहा है. इस मौके पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू एवं मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज धरती आबा, भगवान बिरसा मुंडा के जन्म दिवस पर उनके समाधि स्थल पर श्रद्दांजलि भेंट की.

इस ख़ास मौके को याद करते हुए मुख्यमंत्री ने बिरसा चौक स्तिथ उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण भी किया. वहीँ दूसरी ओर बनवासी कल्याण आश्रम ने वनवासियों के नायक भगवान बिरसा मुंडा का जन्मदिन हर्षौल्लास से मनाया. बता दें कि 15 नवंबर 1875 में जन्मे बिरसा मुंडा ने अंग्रेजों के विरुद्ध कईं लड़ाईयां लड़ी . जिसके कारण उन्हें एक स्वतंत्रता वीर सेनानी भी माना जाता है. आज देश भर में बिरसा मुंडा जयंती 2018 को लेकर तरह तरह के समारोह आयोजित किए जा रहे हैं. वहीँ बनवासी  कल्याण आश्रम के जगदीश कुकरेजा ने कहा कि गुरुवार को प्रदेश में जनसंपर्क अभियान छेड़ा जाएगा ताकि अधिकाधिक लोगों को मुंडा जाति के लोगों के स्वतंत्रता संग्राम में दिए योगदान के बारे में बताया जा सके.

बता दें कि 1898 में तांगा नदी के किनारे Birsa Munda का सामना अंग्रेजों से हुआ. हालाँकि इस युद्ध में अंग्रेज हार गए लेकिन बाद में उन्होंने कईं नेताओं की गिरफ्तारियां करवाई. इन गिरफ्तार आदिवासियों की लिस्ट में बिरसा मुंडा का नाम भी शामिल था. भगवान बिरसा मुंडा ने अपनी अंतिम सांसें 9 जून 1900 में रांची की एक कारागार में ली. इस वीर सेनानी के बलिदान को आज भी पूरा देश सलाम करता है. बिरसा मुंडा जयंती 2018 की तरह ही आने वाले हर साल में उनका जन्मदिन ख़ास तरह से मनाया जाएगा.

 

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close