Cars

ना करें अपना पैसा खराब टॉप मॉडल गाड़ी के इन फीचर्स के ऊपर-

dont buy car top model

अगर आप विचार बना रहे हैं नयी कार खरीदने का और आप इस दुविधा में हैं की कौन सा मॉडल खरीदें – टॉप मॉडल या फिर उससे नीचे वाले या BASE मॉडल खरीदें, कुछ रोचक जानकारी आपके सामने हम रख रहे हैं इस सन्दर्भ में।

जब आप कार डीलर से रेट लिस्ट लेंगे तो आप देखेंगे की हर कार अत्याधुनिक फीचर के साथ साथ अलग मॉडल्स में उपलब्ध है। जैसे जैसे फीचर्स बढ़ते जाते हैं वैसे वैसे कार के दाम भी बढ़ते जाते हैं। जैसे कुछ कार में ट्रेंड चल गया है सन रूफ और नेविगेशन सिस्टम देने का, सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए एबीएस और एयरबैग आगे और पीछे की सीट में देने का, क्रोम एलाय जैसे फीचर्स से सुसज्जित करने का, ऐसे फीचर वाले कार के मॉडल सामान्य कारों की तुलना में अधिक महंगे होते हैं। ऐसे फीचर टॉप एन्ड मॉडल्स में मिलते हैं।

जब हम कार खरीदने का प्लान बनाते हैं, तो यह बेहतर रहता है की आप कार सेल्समेन से हर मॉडल और उसके हर फीचर के विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी लें, हो सके तो टेस्ट राइड भी लें। इससे आपको यह अंदाजा हो जाएगा की कौन से मॉडल में कौन सा फीचर आपकी जरूरत का है और उसके बिना आप नहीं रह सकते। जब आप प्राइस लिस्ट ले के अपने सामने बैठेंगे तो आप कुछ महत्वपूर्ण बातें पाएंगे। आपको अपने बजट के हिसाब से यह आईडिया लग जाएगा की कौन सा फीचर ऐड करने से आप अपने बजट से कितना उपर जा रहे हैं। कार खरीदने से अगर आप इन बातों का ख्याल रखें की कुछ फीचर्स टॉप मॉडल के भारत देश के लिए पर्याप्त नहीं है जैसे की सनरूफ, Day Time Running Lights(DRLs)। आप इन फीचर्स पे पैसा ना लगाएं, यही सलाह होगी।

कुछ फीचर्स टॉप मॉडल में अच्छे होते हैं और लोग उनको देख के आकर्षित होते हैं लेकिन बहुत बार ऐसा देखा गया है की इन् फीचर्स हम इस्तेमाल ही नहीं करते हैं। अब जानते हैं की क्या हमें इन फीचर्स की वाकई में जरूरत होती है और क्या हम उनका कितना इस्तेमाल करते हैं रोजाना जिंदगी में?  क्या यह फीचर काम के हैं या फिर सिर्फ कार की कीमत बढ़ाने के लिए होते हैं?

avoid buying top model of car

क्या हमें टॉप मॉडल नहीं खरीदना चाहिए?

आइये जानें कौन से फीचर्स ऐसे हैं जो हम रोजमर्रा की जिंदगी में टॉप मॉडल की कार में इस्तेमाल नहीं करेंगे!
1) Auto Headlamps – यह फीचर अगर देखा जाए तो हम मैन्युअली भी कर सकते हैं। एक सेकंड का टाइम लगता है नॉब को स्विच ON/OFF करने में। जो कार चला रहा है उसे यह पता रहता है की कब अँधेरा हो रहा है और उसे हेडलैंप ON कर लेनी चाहिए।

2) Rain Sensing Wiper – यह फीचर अगर देखा जाए तो आटोमेटिक जरूरत नहीं है क्यूंकि जैसे ही बारिश होगी, ड्राइवर अपने आप ही शरीर के रिफ्लेक्स एक्शन से वाइपर ON कर लेगा। गाडी चलाते हुए आप पेडल से मैन्युअली चला सकते हैं वाइपर।

3) Push Button Start – चाभी से उतनी ही मेहनत लगेगी जितनी की बटन को पुश करके गाडी चलाने में। यह फीचर आपको कुछ एक्स्ट्रा फायदा नहीं दे रहा है लेकिन इसको रखने से आपकी गाडी की दाम में काफी महंगाई आ जायेगी।

4) Cold Glove Box – AC का छोटा सा वेंट खुला हुआ होता है बॉक्स में लेकिन आपको वह फ्रिज जैसा ठंडा करके नहीं देगा। अगर आपने कोई ठंडी चीज़ रखी है तो आपको वह गरम नहीं होने देगा। जितना AC का temperature होगा उतने पे आपका पानी, बियर ठंडा रहेगा।

5) Day Time Running Lights(DRLs) – क्या दिन में लाइट जलाने का कोई फायदा है? अगर आप एक्स्ट्रा रस१लाख दे रहे हैं खासकर इस फीचर के लिए तो यह देखिये की आपको इससे क्या फायदा हो रहा है। भारत देश में रौशनी की कोई कमी नहीं क्यूंकि सूर्य देवता मेहरबान रहते हैं। यह फीचर वहाँ के लिए पर्याप्त है जहां रौशनी कम् रहती है।

6) Cruise Control – भारत जैसे देश में और शहर के अंदर की सड़कों पे क्रूज कण्ट्रोल फीचर का कोई फायदा नहीं है क्यूंकि आप कार को एक स्पीड पे नहीं रख सकते हैं। अगर आप हाईवे पे गाडी बहुत चलाते हैं, तो आपके लिए यह फीचर फायदेमंद है।

7) Alloy Wheels- एलाय व्हील्स देखने में बेशक सुन्दर लगता हैं लेकिन क्या यह उचित है की उसके कारण हम कार का टॉप मॉडल खरीदें? आपके पास यह ऑप्शन है की मार्किट से आप अपनी पसंद का एलाय व्हील डलवा सकते हैं और वह आपको काम दाम में पड़ेगा। कंपनी से काफी सस्ते मार्किट में एलाय व्हीलस मिल जाएंगे और आप अपना शौक पूरा कर सकते हैं।

8) Sunroof- क्या वाकई हमें इस फीचर की जरूरत है? खासकर जब सूर्य देवता हमेशा सर पे रहते हैं? और क्या आप पोल्लुशण वाले शहर में इसका इस्तेमाल करेंगे? एक बात का और भी ध्यान रखें – सुन रूफ से आपके AC की कूलिंग पे भी फरक पड़ता है।

9) Inbuilt Navigation – इंटरनेट की कनेक्शन की वजह से आप इस फीचर पर पूरी तरह भरोसा नहीं कर सकते। कभी यह स्लो हो जाता है और कभी यह लोकेशन सही नहीं बता पाता। इस फीचर से बेहतर है की आप अपने मोबाइल से गूगल मैप या फिर Android Auto app का इस्तेमाल कर सकते हैं।

10) Electrically Adjustable Steering and Seats – यह फीचर प्रीमियम लक्ज़री कार में उपलब्ध है। ऑटोमेटेड फीचर इस्तेमाल करने में टाइम लगता है बतौर मैन्युअली।

11) Ambient Lighting, Automatic Climate Control – गाडी चलाते हुए आपका ध्यान इन फीचर्स का इस्तेमाल करने के लिए बँटता है। बिना देखे बटन्स को ऑपरेट करना मुश्किल है और रिस्की भी।

Smart Buyer बनें और अपनी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए, जो आपकी जेब के लिए किफायती है और आपके लिए चिंता मुक्त साबित हो वैसी कार का चयन करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close